Author: Amulya Ratna Tripathi

जिंदगी

है गम नहीं कि,
खर्च हो रहा हूँ,
जिंदगी के सारे,
मर्ज ढ़ो रहा हूँ,
ज़रा मुगालते
में था अब तक।
अब सिर्फ अपने,
सपने जी रहा हूँ.

Read More
अंधेरे

मुझको अंधेरे में रखा,
उजालों से क्या बैर था,
मुहब्बत हमारी भी थी,
उम्र का फिर कहाँ होश था.
फ़ासले यूँ बढ़ते गये,
शायद उसमें ही कोई दोष था.

 

इमेज सोर्स : गूगल

Read More
मोहब्बत

यादें उसकी बातें मेरी,
कहानियॉ उसकी जज्बात मेरे,
किताबें उसकी अलफ़ाज़ मेरे,
दोस्ती उसकी दोस्त मेरे,
प्यार उसका वफायें मेरी
कत्ल उसका मौत मेरी |☺

Read More
भाई

जरुरी नहीं,
तेरा जिक्र,
हर बार करुँ।
दिल मैं है तु बात,
बार-बार क्यूँ करुँ,
हो सकती हैं,तुझसे,
कई बार गलतियाँ,
बड़ा हूँ तुझसे,
सुधार मैं क्यूँ ना करुँ ।
😀👌
#भाई

 

Read More
माँ

माँ
होता कुछ भी नहीं मैं,
अगर तू साथ ना होती,
गिर के संभल ना पाता,
गर तू मेरे पास ना होती।
आसमान में सुराख़ कर देती,
ख्वाहिश जो मेरी ये भी होती,
खुशियों में मेरी तू,
अपने गम भुला ही देती,
मेरे कदमों की आहट को,
दुर से ही पहचान लेती।
लड़कपन की गलतियों को,
यूँ ही तू भुला ही देती,
नींदों में भी अपनी तु,

Read More
बारिश

मौसम ए साजिश का है,
ये मौसम बारिश का है,
किसी को इंतज़ार रहता है,
बारिश में भीगने का,
एहसास,अच्छा होता है।
हवाओं में वो सुकून होता है,
ये मुहब्बत का सुरूर होता है।
दिल ये मगरूर होता है,
आशिकों का नूर होता है,
ख्वाबों का जुनून होता है।
जब मौसम बारिश का होता है.
मन में बहार होता है,
खेत में अनाज होता है,

Read More
X
WhatsApp WhatsApp us